- Social Viral

बकरा बताकर थमा दिया कुत्ता, जब भौंका तो खुल गया राज

वैसे तो आपने एक से बढ़कर एक ठगी की कहानियां सुनी होंगी, लेकिन इस बार बकरीद के मौके पर कानपुर में एक ऐसी ठगी हुई कि उसकी चर्चा जो भी सुन रहा उसकी हंसी रुकने का नाम नहीं ले रही.

कानपुर में एक ठग ने बकरामंडी में एक कुत्ते को बकरा जैसा सजाकर ऐसा खेल खेला की कि एक व्यापारी कुत्ते को बकरा समझकर अपना असली बकरा गंवा बैठा. हैरानी तो यह है कि इस ठगी से व्यापारी इतना शर्मा गया कि उसने अपना नाम तक किसी को नहीं बताया और चुपचाप बकरामंडी से चला गया. जबकि पूरे बाजार में इसकी चर्चा जोरों पर हो रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक, कानपुर में जाजमऊ बकरामंडी है. यहां बकरीद के समय बकरों का बाजार गुलजार रहता है. कानपुर के अलावा उन्नाव, फतेहपुर तक के बकरे यहां बिकने आते हैं. सोमवार को यहां देहात का एक व्यापारी अपने तीन बकरे लेकर बेचने आया था.

व्यापारी ने तीनों बकरे को एक सरिये में बांध दिया था उसके दो बकरे बिक गए थे और एक बाकी था. तभी एक शख्स उसके पास आया. उसने पीछे की तरफ इशारा करके व्यापारी से कहा की तुम्हारा बकरा छूटकर उधर खड़ा है. व्यापारी जहां अपना बकरा बंधा था उधर नहीं देखा. सीधे उसी बकरे के पास चला गया जो दूर से देखने में वह उसके काले बकरे जैसा ही दिख रहा था.

READ  ये है कुत्तों का सुसाइड प्वाइंट, हर साल कई कुत्ते कर लेते हैं आत्महत्या

उसके चेहरे पर कागज के फूलों की झालर बंधी थी. वह ब्रेड खा रहा था उसके गले में ठीक वैसी ही रस्सी बंधी थी जैसी व्यापारी ने अपने बकरे के गले में बांधी थी, लेकिन व्यापारी ने जैसे ही उसकी रस्सी पकड़ी तो वह भौंकने लगा. असल में वह काले रंग का कुत्ता ही था, लेकिन उसको झालर और रस्सी से सजाकर बकरे जैसा बना दिया गया था.

जब व्यापारी लौट कर अपने बकरे वाली खूंटी के पास आया तो देखा उसका असली बकरा कोई खोल ले गया है. अब व्यापारी को समझ आ गया कि ठग ने कुत्ते को बकरा जैसा दिखाकर उसका बकरा ठग लिया. इसके बाद व्यापारी ने मंडी में कई लोगों से इसकी शिकायत की, लेकिन वह जिससे भी अपनी बात कहता सब उसका ही मजाक बनाने लगते.

इससे व्यापारी शर्म से इतना पानी-पानी हो गया कि बगैर किसी को शिकायत करे बाजार से चुपचाप चला गया, लेकिन इस ठगी की घटना ने आने वाले समय में बेचने वालों को एक सबक जरूर दे दिया है.

2126cookie-checkबकरा बताकर थमा दिया कुत्ता, जब भौंका तो खुल गया राज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *