- Social Viral

चीन ने खतरे में डाली पत्रकारों की नौकरी, 24 घंटे काम करेगा इसांनों की तरह दिखने वाला रोबोट एंकर

चीन ने पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड न्यूज ऐंकर तैयार किया है. चीन की न्यूज एजेंसी Xinhua ने इसके लिए चीन की सर्च इंजन कंपनी सोगू के साथ पार्टनरशिप की है. यह AI न्यूज एंकर खबरें पढ़ सकता है और इसकी आवाज इंसानों जैसी ही है. यह न्यूज एंकर शायद दुनिया का पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड एंकर है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक यह न्यूज एंकर डेली टीवी नियूज रिपोर्ट का पैसा बचाएगा, क्योंकि यह 24 घंटों तक लगातार काम कर सकता है. खास बात ये है कि इस वर्चुअल न्यूज एंकर में ब्रेकिंग न्यूज पढ़ने की क्षमता है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को यूज करते हुए इमेज और इंसानों की आवाज को मिला कर बिल्कुल असली न्यूज एंकर की तरह एक्सप्रेशन भी दिए गए हैं.

इस वर्चुअल न्यूज एंकर के लिप मूवमेंट के लिए मशीन लर्निंग प्रोग्राम का यूज किया गया है. हालांकि, आप ध्यान से देखेंगे तो लिप मूवमेंट थोड़ा नकली लगता है. यह AI एंकर इंग्लिश और मैंडेरिन भाषा न्यूज पढ़ सकता है. गौरतलब है कि शिह्नुआ न्यूज एजेंसी इंटरनेट और मोबाइल प्लेटफॉर्म पर है और ये दो लैंग्वेज में है और यह एंकर टीवी वेब पेज के लिए काम करेगा.

न्यूज एजेंसी का कहना है कि AI बेस्ड न्यूज एंकर्स खास तौर पर ब्रेकिंग न्यूज समय पर देने के लिए यूज किए जा सकते हैं. आपको बता दें कि यह कोई रोबोट नहीं है, बल्कि इसे आप वर्चुअल न्यूज एंकर कह सकते हैं.

READ  बाइक में लगी थी आग और 4 किलोमीटर तक पति-पत्नी थे बेखबर

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफर्ड के माइकल वूलरिज ने कहा है कि यह न्यूज प्रेजेंटर असली दिखने की कोशिश करता है, लेकिन ऐसा नहीं है. उन्होंने बीबीसी को कहा है कि ऐसे न्यूज कुछ मिनट से ज्यादा नहीं देख सकते हैं, क्योंकि ये काफी सपाट हैं और इनमें कोई विविधता नहीं है.

शिह्नुआ न्यूज एजेंसी ने कहा है, ‘यह ग्लोबल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिंथेसिस में क्रांति की तरह है. रियल न्यूज एंकर के फेशियल एक्सप्रेशन, लिप मूवमेंट और हाव भाव के लिए मशीन लर्निंग का यूज किया गया है.

2609cookie-checkचीन ने खतरे में डाली पत्रकारों की नौकरी, 24 घंटे काम करेगा इसांनों की तरह दिखने वाला रोबोट एंकर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *