- Health, News Box

असम: कैंसर के प्रति जागरुकता के लिए एससीआई और एसीसीएफ का वॉकाथॉन

गुवाहाटी। कैंसर के प्रति लोगों को जागरूक करने और स्वस्थ जीवन के लिए राज्य कैंसर संस्थान (एससीआई) ने असम कैंसर केयर फाउंडेशन (एसीसीएफ) के साथ मिलकर रविवार (17 फरवरी) को एससीआई से उल्लूबारी ओवरब्रिज तक पांच किलोमीटर का कैंसर वॉकाथॉन का आयोजन किया। जिसमें हजारों की संख्या में शहर के विभिन्न संगठनों, युवाअेंा ने भाग लेकर कैंसर के प्रति जागरुकता का संदेश दिया। एससीआई की दूसरी वर्षगांठ पर यह कार्यक्रम गुवाहाटी मे आयोजित किया गया।

कैंसर वॉकाथॉन का आयोजन का उद्देश्य लोगों को कैंसर, खतरों के कारकों, लक्षणों और उपचार तथार इस बीमारी के इलाज के लिए उपलब्ध सुविधाओं के बारे में जागरूक करना, कैंसर का जल्द पता लगाने के लिए समुदाय को स्क्रीनिंग, 30 साल की उम्र के बाद सामान्य कैंसर के लिए जुटना और तंबाकू के सेवन के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता पैदा करना था।

कैंसर वॉकाथॉन में हिस्सा लेने वाले सभी प्रतिभागियों की निःशुल्क जांच की गई। छात्र, रक्षा कर्मी, शिक्षक, डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्य पेशेवर, सरकारी संस्थान, गैर-सरकारी संगठन और सामुदायिक संगठनों ने इस समारोह में भाग लिया।

इस मौके पर डॉ. निर्मल हजारिका ने कहा, कैंसर के संदेश को समुदाय तक ले जाने के लिए इस तरह के नियमित समावेशी कार्यक्रमों का आयोजन करना जरूरी है। कैंसर वॉकाथॉन 2019 में 2500 से अधिक लोगों ने भाग लिया। कैंसर को हराने के लिए कदम बढ़ाएं एक उपयुक्त नारा हो सकता है या वॉकाथॉन द्वारा इस संदेश से कैंसर के अधिकांश मामलों को रोका जा सकता है। यह कार्यक्रम प्रत्येक व्यक्ति को आत्म जागरूक करने, कैंसर स्क्रीनिंग और तंबाकू नियंत्रण जैसे निवारक कदम उठाने के लिए है।

असम कैंसर केयर फाउंडेशन (एसीसीएफ) के सीईओ वारा प्रसाद ने कहा, वॉकाथॉन का उद्देश्य जागरूकता और बचाव कार्यक्रमों के स्तर का आकंलन करना है ताकि रोकथाम और शुरुआती पहचान में सुरक्षित प्रथाओं को अपनाने और लोगों को कैंसर के संकेतों और लक्षणों को समझने में मदद मिल सके, उनके लिए क्या सामान्य है और उन्हें अपनी चिंताओं के बारे में बोलने के लिए आत्मविश्वास को प्रोत्साहित किया जा सके।

READ  धनतेरस पर दान का महाअभियान कार्यक्रम का शुभारम्भ

यहां उल्लेखनीय है कि असम में 48.2 प्रतिशत लोग तंबाकू उत्पादों का सेवन करते हैं। ग्लोबल एडल्ट्स टोबैको सर्वे- 2017 के अनुसार, सभी तरह कैंसर का 50 प्रतिशत और सभी मौखिक कैंसर का 90 प्रतिशत कैंसर की बीमारी तम्बाकू सेवन के कारण होता है। धूम्रपान और चबाने के रूप में तंबाकू का सेवन करने के कारण हर साल असम में 32,000 नए लोग कैंसर का शिकार हो रहे हैं। राज्य में 70 प्रतिशत कैंसर के मामलों का पता अंतिम चरण लगता है।

तंबाकू उत्पादों का उपयोग (जैसे सिगरेट पीना, तंबाकू चबाना) दुनिया भर में मृत्यु का एकमात्र सबसे रोका जाने वाला कारण है। 30 वर्ष की आयु से ऊपर के लोगों में कैंसर अधिक प्रचलित है। इसलिए यदि आप 30 वर्ष के हैं तो खुद के स्वास्थ्य की जांच करवाएं।

कैंसर वॉकाथॉन एक समुदाय संचालित कार्यक्रम है, जो लोगों को शिक्षित करेगा और दूसरे को इसके लिए जोड़ता है। यह बीमारी, इसके निदान और उपचार के रूप में कैंसर की प्रकृति के बारे में लोगों की जानकारी बढ़ाने, संभावित संकेतों और लक्षणों, पर्यावरणीय जोखिम के कारकों के बारे में जागरूक करने का संदेश देता है ताकि लोग स्वेच्छा से स्क्रीनिंग कार्यक्रमों में भाग लें और कैंसर से जुड़े कलंक को कम कर सकें।

3541cookie-checkअसम: कैंसर के प्रति जागरुकता के लिए एससीआई और एसीसीएफ का वॉकाथॉन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *